Ad1

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज।

संतमत दर्शन पुस्तक परिचय

'सन्तमत दर्शन' सद्गुरु सद्ग्रंथ में गुरु गीता से सम्मानित पुस्तक 'महर्षि मेंहीं पदावली' शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी सहित पुस्तक की प्रथम पद्य की व्याख्या की पुस्तक है। इस भजन की ऐसी महिमा है कि अगर कोई व्यक्ति इसके प्रत्येक शब्द को अच्छी तरह समझ जाए, तो उसे मनुष्य का ही शरीर मिलेगा, जब तक कि उसे मुक्ति प्राप्त नहीं हो जाती है। प्रमाण के लिए वीडियो देखें 16 मिनट के बाद। यह Pustak संतमत सत्संग साहित्य का सिरमौर और संत छोटेलाल ( पूज्यपाद लालदास जी महाराज  ) द्वारा विरचित पुस्तकों में ईश्वर-स्वरूप का बोध कराने में सर्वश्रेष्ठ है। "सत्संग ध्यान ऑनलाइन स्टोर" से खरीदा जा सकता है।

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। सत्संग ध्यान ऑनलाइन स्टोर
सत्संग ध्यान ऑनलाइन स्टोर

संतमत दर्शन' में ईश्वर-स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन

वेदों में, योग दर्शनों में, गीता-रामायण में और भारतीय संत-वाणीयों में ईश्वरीय ज्ञान की सच्चाई और परिभाषा क्या है? ईश्वरीय गुण, शक्ति और स्वरूप कैसा है? इसे पढ़ने के लिए इस पुस्तक का अध्ययन अवश्य करें।

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। संतमत दर्शन पुस्तक
संतमत दर्शन पुस्तक 

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। लालदास साहित्य- संतमत दर्शन मुखपृष्ठ।
लालदास साहित्य- संतमत दर्शन  मुख्यपृष्ठ

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। संतमत दर्शन पुस्तक परिचय
संतमत दर्शन पुस्तक परिचय

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। लेखक के शब्द
लेखक के शब्द

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। संतमत दर्शन पुस्तक की प्रकाशकीय
संतमत दर्शन पुस्तक की प्रकाशकीय

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। स्वामी कौशलानंद के उद्गार।
स्वामी कौशलानंद के उद्गार

LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। संतमत दर्शन का आवरण पृष्ठ
संतमत दर्शन का आवरण पृष्ठ

प्रभु प्रेमियों !  "महर्षि मेंहीं पदावली" नामक पुस्तक के प्रथम पद की व्याख्या-पुस्तक "संतमत दर्शन"  का परिचय के बारे में आप लोगों ने जाना।इतनी जानकारी के बाद भी अगर आपके मन में किसी प्रकार का शंका या कोई प्रश्न है, तो हमें कमेंट करें। इस लेख के बारे में अपने इष्ट-मित्रों को भी बता दें, जिससे वे भी इससे लाभ उठा सकें। सत्संग ध्यान ब्लॉग का सदस्य बने। इससे आपको आने वाले  पोस्ट की सूचना नि:शुल्क मिलती रहेगी। 

इस पुस्तक की खरीदारी के लिए




LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। LS02, 'संतमत दर्शन' में ईश्वर स्वरूप का प्रमाणिक वर्णन किया गया है। --लालदास जी महाराज। Reviewed by सत्संग ध्यान on जनवरी 08, 2020 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

सत्संग ध्यान से संबंधित प्रश्न ही पूछा जाए।

Blogger द्वारा संचालित.