Ad1

38. शेख सादी की शिक्षाप्रद कथाएँ ।। Sabase bada dushman ।। मनुष्य का सबसे बड़ा दुश्मन कौन है

38. शेख सादी की शिक्षाप्रद कथाएँ 

प्रभु प्रेमियों ! 'शेख सादी की शिक्षाप्रद कथाएं' नामक पुस्तक में नैतिक , धार्मिक , व्यावहारिक और मनोवैज्ञानिक शिक्षाएँ बड़ी ठोस , अत्यन्त विचारपूर्ण , अनुभव की कसौटी पर कसी हुई और हृदय को छूनेवाली हैं । ये शिक्षाएँ आस्तिक भाव तथा विवेक जगानेवाली , बुद्धिमान् तथा व्यवहार - कुशल बनानेवाली , सम्मान तथा शान्ति के साथ जीवन जीने की कला बतलानेवाली और सत्कर्म की प्रेरणा देनेवाली तथा साहस बँधानेवाली हैं ।

इस पुस्तक की 38वीं कहानी "सबसे बड़ा दुश्मन" में आप जानेंगे कि हमारा सबसे बड़ा दुश्मन कौन है? इंसान का सबसे बड़ा दुश्मन कौन होता है? इसमें कुछ लोगों का कहना है कि हमारा सबसे बड़ा दुश्मन हमारे बिकार है । इस संबंध में शेख शादी के विचार क्या हैंं? इसके साथ ही आप निम्न बातों पर भी कुछ-न-कुछ जानकारी प्राप्त कर सकते हैं; जैसे कि इंसान का सबसे बड़ा दुश्मन कौन है? मनुष्य का सबसे बड़ा क्या है? गूगल मेरे दुश्मन कौन कौन है? मनुष्य का सबसे बड़ा दुश्मन कौन सा जीव है, मनुष्य का सबसे बड़ा मित्र कौन है, मनुष्य का सबसे बड़ा दुश्मन कौन है, आपका सबसे बड़ा दुश्मन कौन है, मनुष्य का सबसे बड़ा शत्रु कौन है, मेरा दुश्मन कौन है, मनुष्य के 6 शत्रु, गूगल मेरा दुश्मन कौन है,  आदि बातें। इन बातों को समझने के पहले आइए इस कहानी से जुड़े इस सुंदर चित्र को देखें।

इस कहानी के पहले वाले कहानी को पढ़ने के लिए यहां दबाएं ।

मनुष्य के सबसे बड़े दुश्मनों की जानकारी संबंधी चित्र

38. सबसे बड़ा दुश्मन

     मैंने एक बुजुर्ग से मुहम्मद साहब की इस शिक्षा का अर्थ पूछा , “ तेरा सबसे बड़ा दुश्मन तेरा नफ्स ( इन्द्रिय , मन ) है । " 

उन्होंने बताया कि नफ्स को सबसे बड़ा दुश्मन इसलिए कहा गया है कि अन्य दुश्मन तो ऐसे हैं कि यदि तुम उनके साथ अहसान ( उपकार ) करो , तो वे तुम्हारे दोस्त बन जाएँगे ; लेकिन नफ्स के साथ तुम जितनी रियायत ( कोमल व्यवहार , नरमी ) करो , यह उतना ही तुम्हारा विरोध करेगा ।

     आदमी कम खाने से फरिश्तों का स्वभाव पा जाता है । वह लूंस - ठूसकर खाएगा , तो पत्थर बना पड़ा रहेगा ।

     तुम जिसकी इच्छा पूरी करोगे , वह तुम्हारा ताबेदार ( आज्ञाकारी ) बन जाएगा ; लेकिन नफ्स की इच्छा जब पूरी होती है , तो वह तुमपर अपना हुक्म चलाने लगता है ।∆


इस कहानी के बाद वाले सूक्तियों को  पढ़ने के लिए    निम्नलिखित लिंक पर क्लिक करें।


प्रभु प्रेमियों ! शेख सादी की शिक्षाप्रद कथाएँ के उपर्युक्त कहानी से हमलोगों ने जाना कि हमारा सबसे बड़ा दुश्मन कौन है? इंसान का सबसे बड़ा दुश्मन कौन होता है? इसमें कुछ लोगों का कहना है कि हमारा सबसे बड़ा दुश्मन हमारे बिकार है, इतनी जानकारी के बाद भी अगर आपके मन में किसी प्रकार का शंका या कोई प्रश्न है, तो हमें कमेंट करें। इस पोस्ट के बारे में अपने इष्ट मित्रों को भी बता दें, जिससे वे भी लाभ उठा सकें। सत्संग ध्यान ब्लॉग का सदस्य बने इससे आपको आने वाले पोस्ट की सूचना नि:शुल्क मिलती रहेगी। निम्न वीडियो में उपर्युक्त वचनों का पाठ किया गया है। इसे भी अवश्य देखें, सुनें।



Sekh shaadi ki shikshaprad kathaen pustak
   अगर आपको 'शेख सादी की शिक्षाप्रद कथाएँ' पुस्तक के बारे में विशेष रूप से जानना हैं या इस पुस्तक के अन्य लेखों को पढ़ना चाहते हैं तो


सद्गुरु महर्षि मेंहीं परमहंस जी महाराज की पुस्तकें मुफ्त में पाने के लिए शर्त के बारे में जानने के लिए   यहां दबाएं।
38. शेख सादी की शिक्षाप्रद कथाएँ ।। Sabase bada dushman ।। मनुष्य का सबसे बड़ा दुश्मन कौन है 38. शेख सादी की शिक्षाप्रद कथाएँ ।। Sabase bada dushman ।। मनुष्य का सबसे बड़ा दुश्मन कौन है Reviewed by सत्संग ध्यान on 5/10/2021 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

सत्संग ध्यान से संबंधित प्रश्न ही पूछा जाए।

Blogger द्वारा संचालित.